शतरंज छोड़कर कैसे बने भारत के बेस्ट स्पिनर युज़वेंद्र चहल-

यूज़वेंद्र चहल का जन्म 23 जुलाई 1990 को जिंद हरियाणा में हुआ। इनके पिता का नाम K.K चहल है। माता का नाम सुनीता देवी है। चहल बचपन से ही शतरंज व क्रिकेट प्रेमी थे। चहल ने 2003 में शतरंज में इंडिया को रिप्रेजेंट किया। शतरंज महंगा खेल होने के कारण चहल ने शतरंज खेलना बंद कर दिया। अपना सारा ध्यान क्रिकेट की ओर लगा दिया। चहल ने जब क्रिकेट खेलना शुरू किया था। तब वह एक मध्यम तेज गेंदबाज बनना चाहते थे। पर उनके कोच अश्विनी ने उन्हें लेग स्पिनर बना दिया।चहल ने अपना फर्स्ट क्लास डेब्यू मैच मध्य प्रदेश के खिलाफ इंदौर में खेला।2011 में मुंबई इंडियंस ने अपनी टीम में खरीदा पर वहां उन्हें ज्यादा मौके नहीं मिले। 2014 में बेंगलुरु रॉयल चैलेंजर ने दस लाख रुपए में खरीदा।2016 में पहली बार भारतीय टीम की ओर से खेलने का मौका मिला।चहल ने अपना पहला वन डे इंटरनेशनल मैच जिंबाब्वे के खिलाफ खेला।चहल ने अब तक 60 वनडे मैच खेले हैं जिसमें 103 विकेट लिए हैं। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 42 रन देकर छह विकेट है।वही T20 में चहल ने अब तक 50 मैच में 64 विकेट लिए हैं।उनका बेस्ट 25 रन देकर छह विकेट है। आईपीएल में चहल ने 114 मैचों में 139 विकेट लिए हैं। आई पी एल 2022 में मेगा ऑक्शन के लिए चहल ने अपना बेस्ट प्राइस 2 करोड रुपए रखा है। 22दिसंबर 2020 में चहल ने धनाश्री वर्मा से शादी कर ली थी।चहल को T-20 performance of the year 2017 का अवार्ड Icc के द्वारा दिया गया। चहल ने इग्लैंड के खिलाफ 25 रन देकर 6 विकेट हासिल किये थे।

Leave a Comment