महेंद्र सिंह धोनी के फैसले के बाद 2008 में ही सन्यास ले लेता यह विस्फोटक भारतीय ओपनर बल्लेबाज

पूर्व भारतीय विस्फोटक ओपनर बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी पर खुलासा करते हुए कहा कि 2008 में ऑस्ट्रेलिया में सीरीज के दौरान जब मैं शुरुआती तीन चार मैचों में असफल रहा था।तब महेंद्र सिंह धोनी ने मुझे टीम से बाहर कर दिया था। जिससे मैं बहुत दुखी था। जिसके चलते मैंने वनडे से संन्यास लेने के बारे में सोचा था। मैंने सोचा कि अब वनडे से संन्यास लेकर सिर्फ टेस्ट क्रिकेट का ध्यान दिया जाये। तभी मैंने क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर से बात की तब सचिन तेंदुलकर ने समझाया कि ऐसा दौर हर एक क्रिकेटर की जिंदगी में आता है।

जब वह रन बनाना चाहता है परंतु असफल हो जाता है धीरे धीरे करके यह दौर गुजर जाता है और वापिस बल्ले से रन बनने शुरू हो जाते हैं। सहवाग ने कहा कि इसके बाद मैंने खुद पर मेहनत की और फॉर्म हासिल कर ली। सहवाग वर्ल्ड T20 वर्ल्डकप 2007 व विश्व कप 2011 विजेता टीम का अहम सदस्य रहे हैं।

Leave a Comment