विराट कोहली ने मेरे साथ ही डेब्यू किया था पर उन्हें धोनी के रूप में अच्छे मार्गदर्शक मिले मेरे साथ हुई नाइंसाफी

क्रिकेट की दुनिया में हर साल नए प्रतिभाशाली खिलाड़ी आते हैं और अपनी मेहनत और लगन के फलस्वरुप अपने करियर को ऊंचाइयों तक ले जाते हैं। वहीं कुछ खिलाड़ी ऐसे भी होते हैं जिनमें प्रतिभा की कोई कमी नहीं होती पर फिर भी उन्हें ज्यादा मौके नहीं दिए जाते और उनका क्रिकेटर कैरियर थोड़े ही दिनों के बाद समाप्त हो जाता है। पूर्व पाकिस्तानी खिलाड़ी शहजाद अहमद भी इस कड़ी का एक हिस्सा है।शहजाद अहमद ने हाल ही में एक बयान दिया है जिसमें उन्होंने कहा कि मैंने भी विराट कोहली के साथ ही डेब्यू किया था।

विराट कोहली ने अपना करियर महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में शुरू किया। जिसके चलते उन्हें एक अच्छे मार्गदर्शक का साथ मिला महेंद्र सिंह धोनी के साथ के कारण ही आज विराट कोहली क्रिकेट में अपना इतना नाम कमा चुके हैं।विराट कोहली ने क्रिकेट के तीनों प्रारूप में अपनी एक अलग ही पहचान बनाई है। शहजाद अहमद ने कहा कि मुझे राजनीतिक षड्यंत्र के कारण टीम ने मौके नहीं दिए गए। जिसके कारण मेरा कैरियर खत्म कर दिया गया।

शहजाद अहमद ने पाकिस्तान के पूर्व कोच वकार यूनिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि वकार यूनुस ने मेरे साथ नाइंसाफी की मेरे रन बनाने के बावजूद भी मुझे टीम से बाहर कर दिया गया। शहजाद अहमद 2019 से पाकिस्तान की टीम से बाहर चल रहे हैं। उन्होंने उनकी कैरियर को बर्बाद करने का आरोप वकार यूनुस के षड्यंत्र को लगाया। शहजाद अहमद को एक समय पाकिस्तान का विराट कोहली कहा जाता था।

Leave a Comment